Popular

Rooh Ka Rishta Song Lyrics (Ghost 2019) Arko | Bollywood Lyrica

Rooh Ka Rishta Song Lyrics (Ghost 2019) Arko  Bollywood Lyrica, Arko, Sonal Pradhan, zee music company, ghost, latest song lyrics, hindi song lyrics, bollywood song lyrics, rooh ka rishta lyrics, perfect lyrics
Rooh Ka Rishta Song Lyrics (Ghost 2019) Arko 



Title: 
Rooh Ka Rishta

Singers: 
Arko

Lyrics: 
Sonal Pradhan

Music: 
Sonal Pradhan

Music Label: Zee Music Company

Movie: Ghost


Movie Release Date: 18 October 2019 (India)



Rooh Ka Rishta Song Lyrics (Ghost 2019) Arko | Bollywood Lyrica

अनकही है जो बातें
कहनी है तुमसे ही
क्यूँ ये नज़रें मेरी
ठहरी हैं तुमपे ही

रूह का रिश्ता ये जुड़ गया
जहाँ तू मुड़ा मैं भी मुड़ गया
रास्ता भी तू है मंज़िल भी तू ही
हाँ तेरी ही ज़रूरत है मुझे
यह कैसे समझौं मैं तुझे
माँगता हूँ तुझे या तुझसे ही...2

बेचैनियाँ अब बढ़ने लगी है
सब्र रहा ना बेसब्री है
आँच थोड़ी साँसों को दे दे
मुश्क़िल में ये जान मेरी है

बहता हूँ तुझमें मैं भी
ना छुपा खुद से ही
महकूँ खुशबू से जिसकी
बन वो कस्तूरी

रूह का रिश्ता ये जुड़ गया
जहाँ तू मुड़ा मैं भी मुड़ गया
रास्ता भी तू है मंज़िल भी तू ही
हाँ तेरी ही ज़रूरत है मुझे
यह कैसे समझौं मैं तुझे
माँगता हूँ तुझे या तुझसे ही

जब से मिला हूँ तुझसे
बस ना रहा है खुद पे
बोलती आँखों ने जादू कर दिया
बख़्श दे मुझे ख़ुदारा
मैने जब उसे पुकारा
हो गयी ख़ता तेरा नाम ले लिया

साथ हो जो उम्र भर
वो खुशी बन मेरी
हर कमी मंज़ूर है
बिन तेरे जीना नहीं

रूह का रिश्ता ये जुड़ गया
जहाँ तू मुड़ा मैं भी मुड़ गया
रास्ता भी तू है मंज़िल भी तू ही
हाँ तेरी ही ज़रूरत है मुझे
यह कैसे समझौं मैं तुझे
माँगता हूँ तुझे या तुझसे ही


"Rooh Ka Rishta Song Lyrics" In English

Ankahi hai jo baatein
Kehni hai tumse hi
Kyun ye nazrein meri
Thehri hain tumpe hi

Rooh ka rishta ye jud gaya
Jahaan tu muda main bhi mud gaya
Raasta bhi tu hai manzil bhi tu hi
Haan teri hi zaroorat hai mujhe
Yeh kaise samjhaun main tujhe
Maangta hoon tujhe ya tujhse hi....2

Bechainiyaan ab badhne lagi hai
Sabr raha na besabri hai
Aanch thodi saanson ko de de
Mushqil mein ye jaan meri hai

Behta hoon tujhme main bhi
Na chhupa khudse hi
Mehkun khushboo se jiski
Ban woh kastoori

Rooh ka rishta ye jud gaya
Jahaan tu muda main bhi mud gaya
Raasta bhi tu hai manzil bhi tu hi
Haan teri hi zaroorat hai mujhe
Yeh kaise samjhaun main tujhe
Maangta hoon tujhe ya tujhse hi

Jab se mila hoon tujhse
Bas na raha hai khud pe
Bolti aankhon ne jaadu kar diya
Bakhsh de mujhe Khudara
Maine jab usey pukara
Ho gayi khata tera naam le liya

Saath ho jo umr bhar
Woh khushi bann meri
Har kami manzoor hai
Bin tere jeena nahi

Rooh ka rishta ye jud gaya
Jahaan tu muda main bhi mud gaya
Raasta bhi tu hai manzil bhi tu hi
Haan teri hi zaroorat hai mujhe
Yeh kaise samjhaun main tujhe
Maangta hoon tujhe ya tujhse hi

No comments